पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी का निधन, देश में शोक की लहर

देश के पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी का निधन हो गया है. उन्होंने दिल्ली के एम्स अस्पताल में शाम 5.05 पर अंतिम सांस ली. उनके निधन से देश भर में शोक की लहर फैल गई है. बीजेपी ही नहीं बल्कि देश की हर राजनीतिक पार्टी के लोग उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित कर रहे हैं.

93 साल के वाजपेयी पिछले काफी वक्त से बीमार थे. एम्स ने एक बयान जारी करके यह दुख भरी सूचना दी. आज सुबह से ही देश के बड़े नेताओं की आवागमन एम्स में हो रहा था. सभी लोग अटल जी की सेहत को लेकर चिंतित थे.

1996 में वह पहली बार पीएम बने थे और 13 दिन ही उनकी सरकार चल पाई थी. 1998 में वे दूसरी बार पीएम बने थे. तब उन्होंने 13 महीने सरकार चलाई थी. इसके बाद 1999 में वह तीसरी बार पीएम बने थे और 5 साल का कार्यकाल पूरा किया था.

2014 में उन्हें देश के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया था. पिछले काफी वक्त से वह बीमार चल रहे थे. उन्होंने लोगों को पहचानना बंद कर दिया था. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत देश की तमाम बड़ी हस्तियों ने उनके निधन पर दुख जताया है.