News

इस स्टिंग में हैरान होने जैसा कुछ नहीं, इंफ्लुएंसर मार्केटिंग है ये

स्टिंग ऑपरेशन के लिए पहचाने जाने वाले एक संस्थान ने एक बार फिर एक स्टिंग किया है. काफी लोग इस ताजा स्टिंग को देख कर हैरान हैं जबकि इसमें कुछ हैरान करने वाला नहीं है.

आपस में लड़ने की जगह आतंक से लड़िए, वरना देर हो जाएगी

अगर हम अपने देश का हाल सीरिया जैसा नहीं चाहते हैं तो हमें जाति और धर्म के बेड़ियां तोड़नी होंगी. जेंडर इक्वैलिटी को महत्व देना होगा. सभी भारतीय अगर एक साथ आतंक का मुकाबला करेंगे तो जीत हासिल होगी.

पुलवामा अटैक: आतंक को देश भर में फैलने से कैसे रोका जाए

पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद देखने में आया कि काफी लोगों ने सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक और विवादित बातें लिखीं.

क्या दलितों को सिर्फ खिचड़ी के जरिए साधा जा सकता है?

क्या बीजेपी के खिचड़ी खिलाने से दलित वोट उसे मिल जाएंगे? तब तो किसी भी पार्टी के लिए ये काफी आसान है. खिचड़ी खिलाओ, वोट ले जाओ.

वीडियो